तमिलनाड मर्केंटाइल बैंक आईपीओ: 100 साल पुराने निजी बैंक का आईपीओ खुला, जानिए कितना GMP | तमिलनाडु मर्केंटाइल बैंक का आईपीओ : 100 साल पुराने निजी बैंक का आईपीओ खुला, जानिए कितना है जीएमपी

बैंक इस आईपीओ से जुटाई गई रकम का इस्तेमाल अपनी पूंजी जरूरतों को पूरा करने के लिए करेगा। इसका लक्ष्य अपने टियर-1 पूंजी आधार को बढ़ाना है।

तमिलनाडु मर्केंटाइल बैंक का आईपीओ : 100 साल पुराने निजी बैंक का आईपीओ खुला, जानिए कितना है जीएमपी

तमिलनाडु मर्केंटाइल बैंक IPO

तमिलनाडु मर्केंटाइल बैंक का आईपीओ (तमिलनाड मर्केंटाइल बैंक आईपीओ) आज 5 सितंबर 2022 को खोला गया। तमिलनाडु मर्केंटाइल बैंक ने अपने आईपीओ से पहले एंकर निवेशकों से 832 करोड़ रुपये जुटाए हैं। 363 करोड़ की वसूली हो चुकी है। बीएसई की वेबसाइट पर अपलोड किए गए एक सर्कुलर के मुताबिक, इसने एंकर निवेशकों को रु. 510 ने 71.28 लाख इक्विटी शेयर जारी किए हैं। सोसाइटी जेनरल, नोमुरा सिंगापुर, बजाज आलियांज लाइफ इंश्योरेंस कंपनी, मैक्स लाइफ इंश्योरेंस कंपनी, कोटक महिंद्रा लाइफ इंश्योरेंस कंपनी और मनीवाइज फाइनेंशियल सर्विसेज कंपनी एंकर निवेशकों में से हैं।

ग्रे मार्केट प्रीमियम क्या है?

वहीं ग्रे मार्केट की बात करें तो जीएमपी यानी ग्रे मार्केट प्रीमियम लगातार घट रहा है और इसका जीएमपी 40 रुपये से घटकर 25 रुपये हो गया है। ग्रे मार्केट में गिरावट के बाद भी इसके शेयर अभी भी प्रीमियम कीमत पर हैं.विशेषज्ञों के मुताबिक तमिलनाडु मर्केंटाइल बैंक के शेयर 25 रुपये के प्रीमियम पर कारोबार कर रहे हैं. इसका मतलब है कि बैंक के शेयर की कीमत करीब रु. 25 यानि रु. 550 को सूचीबद्ध किया जा सकता है। दो दिन पहले यह 36 रुपये के प्रीमियम पर था। विशेषज्ञों के अनुसार केवल ग्रे मार्केट संकेतों के आधार पर निवेश करना सही नहीं है, बल्कि कंपनी के फंडामेंटल और वित्तीय प्रदर्शन के आधार पर निर्णय लेना चाहिए। विशेषज्ञों के अनुसार, कंपनी के शेयर गुरुवार, 15 सितंबर, 2022 को स्टॉक एक्सचेंज बीएसई और एनएसई पर सूचीबद्ध होने की उम्मीद है।

आईपीओ के जरिए जुटाए गए फंड का क्या होगा इस्तेमाल?

बैंक इस आईपीओ से जुटाई गई रकम का इस्तेमाल अपनी पूंजी जरूरतों को पूरा करने के लिए करेगा। इसका लक्ष्य अपने टियर-1 पूंजी आधार को बढ़ाना है। आपको बता दें कि यह देश के सबसे पुराने निजी बैंकों में से एक है। इसका मुख्यालय थूथुकुडी में है। बैंक कई बैंकिंग और वित्तीय सेवाएं प्रदान करता है। इसमें एमएसएमई, कृषि और खुदरा ग्राहक हैं।

बैंक की वित्तीय स्थिति

बैंकों को 31 मार्च, 2022 तक 11.5 प्रतिशत का न्यूनतम सीआरएआर (पूंजी से जोखिम संपत्ति अनुपात) बनाए रखना आवश्यक था। इसका टियर-1 पूंजी पर्याप्तता अनुपात 20.46 प्रतिशत और टियर-1 पूंजी रु. 5231.77 करोड़। वित्त वर्ष 2021-22 के लिए बैंक का सकल एनपीए (नॉन-परफॉर्मिंग एसेट्स) 1.69 फीसदी था। जो पिछले वित्त वर्ष के 3.44 प्रतिशत से बेहतर था। बैंक का नेट एनपीए भी 1.98 फीसदी से घटकर 0.95 फीसदी पर आ गया है. 31 मार्च 2022 तक बैंक की कुल 509 शाखाएं थीं। इनमें 106 ग्रामीण, 247 अर्ध-शहरी, 80 शहरी और 76 महानगरीय क्षेत्रों में थे।

Source link

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.