राकेश झुनझुनवाला का अकासा एयर डेटा चोरी, यूजर्स के निर्देश लीक राकेश झुनझुनवाला का अकासा एयर डेटा चोरी, यूजर्स के निर्देश लीक

कंपनी की वेबसाइट पर पोस्ट की गई जानकारी के अनुसार, 25 अगस्त को, लॉगिन और साइन-अप सेवाओं में कुछ अस्थायी तकनीकी गड़बड़ियों की सूचना मिली और कुछ अनधिकृत लोगों के लिए फोन नंबर की जानकारी उपलब्ध हो गई।

हाल ही में लॉन्च हुई एयरलाइन अकासा एयरना (अकासा एयर) डेटा उल्लंघनों के कारण उपयोगकर्ताओं की जानकारी तक अनधिकृत पहुंच हुई है। पिछले 7 अगस्त को परिचालन शुरू करने वाली अकासा एयर ने व्यवधान के लिए अपने ग्राहकों से माफी मांगी है और खुद सीईआरटी-इन को मामले की सूचना दी है।

एक तकनीकी त्रुटि हुई

कंपनी की वेबसाइट पर पोस्ट की गई जानकारी के अनुसार, 25 अगस्त को, लॉगिन और साइन-अप सेवाओं में कुछ अस्थायी तकनीकी गड़बड़ियों की सूचना मिली और कुछ अनधिकृत लोगों के लिए फोन नंबर की जानकारी उपलब्ध हो गई। एयरलाइन ने स्पष्ट किया है कि इस जानकारी के अलावा यात्रा संबंधी कोई अन्य जानकारी या यात्रा रिकॉर्ड और भुगतान जानकारी का खुलासा नहीं किया गया है।

आपको बता दें कि इसकी पहली उड़ान को उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था। अकासा एयर देश के प्रसिद्ध निवेशक और स्टॉक ब्रोकर स्वर्गीय राकेश झुनझुनवाला की एयरलाइन कंपनी है। सिंधिया ने मुंबई से अहमदाबाद के लिए अकासा एयर की पहली व्यावसायिक उड़ान को हरी झंडी दिखाई। अकासा एयर का संचालन राकेश झुनझुनवाला द्वारा किया जाता है, साथ ही एयरलाइन के दिग्गज आदित्य घोष और विनय दुबे भी हैं। कंपनी को नागरिक उड्डयन निदेशालय यानी डीजीसीए से 7 जुलाई को उड़ान भरने की अनुमति मिली थी। इसके ठीक एक महीने बाद 7 अगस्त को पहली उड़ान भरी। अकासा की पहली व्यावसायिक उड़ान का नाम मुंबई-अहमदाबाद था।

सिंधिया ने कहा कि इस नए माहौल में अकासा एयर का स्वागत है। सड़क और रेल परिवहन में जिस तरह का उछाल देखने को मिला, वही विकास निकट भविष्य में विमानन उद्योग में भी देखने को मिलेगा। अकासा ने अगले 5 वर्षों में 72 विमान उड़ाने की योजना बनाई है, ताकि पूरा देश अकासा की उड़ानों से आच्छादित हो। राकेश झुनझुनवाला की तारीफ करते हुए सिंधिया ने कहा कि उनके पास हमेशा एक इनोवेटिव आइडिया होता है और अकासा में भी ऐसा ही देखने को मिलेगा।

Source link

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.