शेयरधारकों को बोनस शेयर देगी वेदांता ग्रुप की अनिल अग्रवाल की कंपनी, जानिए कंपनी के प्लान के बारे में | शेयरधारकों को बोनस शेयर जारी करेगी वेदांता समूह की अनिल अग्रवाल की कंपनी, जानिए कंपनी के प्लान के बारे में

आपको बता दें कि कंपनी ने साल 2021 में आईपीओ के लिए सेबी को शुरुआती दस्तावेज डीआरएचपी सौंपे हैं। कंपनी ने इस आईपीओ के जरिए 1250 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बनाई थी।

शेयरधारकों को बोनस शेयर जारी करेगी वेदांता समूह की अनिल अग्रवाल की कंपनी, जानिए कंपनी के प्लान के बारे में

अनिल अग्रवाल – वेदांत रिसोर्सेज लिमिटेड के संस्थापक और अध्यक्ष

अनिल अग्रवाल(अनिल अग्रवाल)स्टरलाइट पावर(स्टरलाइट पावर) अपने शेयरधारकों को बोनस शेयर(बोनस शेयर)की घोषणा की है। कंपनी रु. 2 अंकित मूल्य वाले 1 शेयर के लिए 1 बोनस शेयर जारी करेगा। कंपनी ने 2021-22 की अपनी सालाना रिपोर्ट में इसकी घोषणा की है। कंपनी कुल 6,11,81,902 पूर्ण भुगतान वाले इक्विटी शेयर जारी करेगी। कंपनी ने अभी इसके लिए रिकॉर्ड तारीख तय नहीं की है। इसे आय के रूप में लाभांश (लाभांश)के रूप में नहीं माना जाएगा ये बोनस शेयर कंपनी के चुकता इक्विटी शेयर हैं (पेड-अप इक्विटी शेयर)पूंजी में वृद्धि के रूप में देखा जाएगा। कंपनी ने कहा है कि जारी और आवंटित बोनस शेयर मौजूदा इक्विटी शेयरों के बराबर होंगे। बोनस शेयरों के अधिकार भी मौजूदा शेयरों की तरह ही होंगे।

पिछले साल आईपीओ के लिए आवेदन किया था

आपको बता दें कि कंपनी ने साल 2021 में आईपीओ के लिए सेबी को शुरुआती दस्तावेज डीआरएचपी सौंपे हैं। कंपनी ने इस आईपीओ के जरिए 1250 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बनाई थी। विशेष रूप से, स्टरलाइट पावर ट्रांसमिशन अनिल अग्रवाल की अध्यक्षता वाली एक कंपनी है, जो वेदांत रिसोर्सेज के अध्यक्ष हैं। कंपनी को दस्तावेज जमा करने के बाद 30 सितंबर को बीएसई और 24 नवंबर को एनएसई से सैद्धांतिक मंजूरी मिली। हालांकि, कंपनी को अभी अपना आईपीओ लाना बाकी है।

इस राशि का उपयोग ऋण चुकौती के लिए किया जाना था। प्रस्ताव में कंपनी के कर्मचारियों के लिए शेयरों का आरक्षण शामिल है। आईपीओ से मिलने वाली रकम का इस्तेमाल मुख्य रूप से कर्ज चुकाने में किया जाएगा।

कंपनी का व्यवसाय क्या है?

Sterlite Power एक इलेक्ट्रिसिटी ट्रांसमिशन इंफ्रास्ट्रक्चर फर्म है जो वेदांता ग्रुप का हिस्सा है। अनिल अग्रवाल के अलावा ट्विन स्टार ओवरसीज इसके प्रमोटर हैं। कंपनी भारत में विद्युत पारेषण और विद्युत लाइन परियोजनाओं का प्रबंधन करती है।

कंपनी के परिणाम

वित्त वर्ष 22 में कंपनी का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है। 2021-22 में कंपनी का समेकित शुद्ध लाभ रु. 440 करोड़, जो रु. 870 करोड़ लाभ का लगभग आधा है। हालांकि, प्रदर्शन ने निश्चित रूप से कंपनी के राजस्व में वृद्धि की है। वित्त वर्ष 2021-22 में परिचालन से कंपनी का राजस्व रु। 5,197 करोड़ जो वित्तीय वर्ष 2020-21 में रु। 2,092 करोड़।

Source link

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.